NCERT Solutions for Class 10 Hindi Kshitij Chapter 6 यह दंतुरहित मुस्कान और फसल

Class 10 Hindi Kshitij Chapter 6 यह दंतुरहित मुस्कान और फसल

NCERT Solutions for Class 10 Hindi Kshitij Chapter 6 यह दंतुरहित मुस्कान और फसल, (हिंदी)परीक्षा में राज्य बोर्ड और सीबीएसई स्कूलों में से कुछ में एनसीईआरटी की किताबों के माध्यम से छात्रों को पढ़ाया जाता है के रूप में अध्याय एक अंत शामिल है, वहां एक अभ्यास के लिए छात्रों को मूल्यांकन के लिए तैयार सहायता प्रदान की है छात्रों को उन अभ्यासों को बहुत अच्छी तरह से स्पष्ट करने की जरूरत है क्योंकि बहुत पिछले उन लोगों से पूछा भीतर सवाल

कई बार, छात्रों के अभ्यास के भीतर अटक जाते है और सवालों के सभी स्पष्ट करने में सक्षम नहीं हैं छात्रों को सभी प्रश्नों को हल करने और अपनी पढ़ाई को संदेह के साथ बनाए रखने में सहायता करने के लिए, हमने सभी कक्षाओं के लिए छात्रों के लिए स्टेप एनसीईआरटी सॉल्यूशंस द्वारा कदम प्रदान किए हैं। इन उत्तरों को इसी तरह छात्रों की सहायता और सवालों का सही जवाब देने के तरीके के रूप में ठीक से सचित्र समाधानों की सहायता से बेहतर अंक स्कोरिंग में छात्रों की मदद मिलेगी

NCERT Solutions for Class 10 Hindi Kshitij Chapter 6 यह दंतुरहित मुस्कान और फसल

Class 10 Hindi Kshitij Chapter 6 यह दंतुरहित मुस्कान और फसल

पाठ्य-पुस्तक के प्रश्न-अभ्यास

 

प्रश्न 1. बच्चे की दंतुरित मुस्कान का कवि के मन पर क्या प्रभाव पड़ता है ?

उत्तर- बच्चे की दंतुरित मुस्कान को देखते ही कवि के मन को सुखानुभूति होती है । मन उल्लास से भर जाता है , मन के विकार धुल जाते हैं । ऐसा लगता है जैसे कमल के फूल तालाब को छोड़कर उसकी कुटिया में खिल गए हों ।

प्रश्न 2 . बच्चे की मुस्कान और एक बड़े व्यक्ति की मुस्कान में क्या अंतर है ?

उत्तर- बच्चे की मुस्कान में निश्छलता और मासूमियत होती है । दिल में किसी के लिए दुर्भावना नहीं होती , जबकि बड़े व्यक्ति की मुस्कान में चालाकी , स्वार्थ , किसी के प्रति दुर्भावना भी छिपी हो सकती है । बच्चे की मुस्कान में प्रसन्नता और मस्ती होती है ।

प्रश्न 3. कवि ने बच्चे की मुस्कान के सौन्दर्य को किन – किन बिम्बों के माध्यम से व्यक्त किया है ?

उत्तर- कवि ने बच्चे की मुस्कान के सौन्दर्य को निम्न बिम्बों के माध्यम से व्यक्त किया है –

( 1 ) मृतक में जीवन का संचार करना ।

( 2 ) कमल का फूल

( 3 ) मुस्कान से पत्थर पिघलकर झरना फूटना ।

( 4 ) स्पर्श बिम्ब के माध्यम से बताया है कि बबूल और बाँस के फूल भी शेफालिका के फूल बन जाते हैं ।

प्रश्न 4 . भाव स्पष्ट कीजिए –

( क ) छोड़ कर तालाब मेरी झोपड़ी में खिल रहे जलजात ।

( ख ) छू गया तुमसे कि झरने लग पड़े शेफालिका के फूल बाँस था कि बबूल ?

उत्तर- ( क ) भावार्थ- कमल का फूल स्नेह रूपी जल से युक्त तालाब में खिलता है , लेकिन तुम्हारी इस दंतुरित मुस्कान को देखकर कवि को ऐसा लग रहा है जैसे कि मुस्कान रूपी कमल मेरी झोपड़ी में खिल रहा हो ।

( ख ) भावार्थ- कवि कहता है कि बालक के मधुरिम स्पर्श को पाकर बाँस और बबूल जैसे रंगहीन और गंधहीन पुष्प भी शेफालिका के रंगीन और सुगंधित फूल बन जाते हैं ।

रचना और अभिव्यक्ति

प्रश्न 5 . मुस्कान और क्रोध भिन्न – भिन्न भाव हैं । इनकी उपस्थिति से बने वातावरण की भिन्नता का वर्णन कीजिए ।

उत्तर- मुस्कान और क्रोध दोनों भाव एक – दूसरे के विपरीत हैं ।

मुस्कान – अबोध बालक के मुख पर फैली मनमोहक मुस्कान को देखकर सभी का मन प्रफुल्लित हो उठता है ।

क्रोध – परन्तु किसी क्रोधी व्यक्ति को देखकर मन में एक भय की उत्पत्ति होती है ।

प्रश्न 6. दंतुरित मुस्कान से बच्चे की उम्र का अनुमान लगाइए और तर्क सहित उत्तर दीजिए ।

उत्तर- सामान्यतः एक स्वस्थ बच्चे के दाँत निकलने का समय 4 महीने से लेकर 18 महीने तक का होता है क्योंकि माँ अपनी उँगलियों से बच्चे को मधुपर्क करा रही है और बच्चा अजनबी लोगों को एकटक देखता है , लेकिन कुछ बोलता नहीं है अतः बच्चे की उम्र लगभग 8-9 महीने होगी ।

प्रश्न 7. बच्चे से कवि की मुलाकात का जो शब्द – चित्र उपस्थित हुआ है उसे अपने शब्दों में लिखिए ।

उत्तर- कवि जब एक छोटे बच्चे को मुस्कुराता हुआ देखता है और उस बच्चे के मुख में छोटे – छोटे दाँत चमक रहे हैं तो वह सोचने लगता है कि बच्चे की यह दंतुरित मुस्कान निर्जीव को भी सजीव बना डालती है धूल – धूसरित उसका शरीर भी कमल के समान खिला हुआ प्रतीत होता है । कवि कहता है कि अगर तुम्हारी माँ माध्यम न बनती तो मुझ जैसे अतिथि से तुम्हारा परिचय नहीं हो पाता और न ही मैं तुम्हारी इस मृदुल मुस्कान को जान पाता ।

पाठेतर सक्रियता

प्रश्न 1 . आप जब किसी बच्चे से पहली बार मिलें तो उसके हाव – भाव , व्यवहार आदि को सूक्ष्मता से देखिए और उस अनुभव को कविता या अनुच्छेद के रूप में लिखिए ।

उत्तर- छात्र स्वयं करें ।

फसल

प्रश्न 1 . कवि के अनुसार फसल क्या है ?

उत्तर- कवि के अनुसार फसल नदियों के पानी का जादू है । अनेक लोगों के हाथों के स्पर्श की महिमा है , इस तरह फसल हजारों खेतों की तरह – तरह की मिट्टी का गुण – धर्म है तथा सूरज की किरणों का रूपान्तर है ।

प्रश्न 2. कविता में फसल उपजाने के लिए आवश्यक तत्वों की बात कही गई है , वे आवश्यक तत्व कौन – कौन से हैं ?

उत्तर- वे आवश्यक तत्व हैं जल , कृषकों का परिश्रम , मिट्टी , सूरज तथा हवा

प्रश्न 3 . फसल को हाथों के स्पर्श की गरिमा और महिमा कहकर कवि क्या व्यक्त करना चाहता है ?

उत्तर- फसल को हाथों के स्पर्श की गरिमा और महिमा कहकर कवि कहता है कि जब असंख्य कृषकों के हाथों के स्पर्श से फसल पककर तैयार हो जाती है , तब वही कृषक स्वयं को गरिमामय महसूस करते हैं , स्वयं को धन्य समझते हैं , उनकी यह महानता है कि उनकी मेहनत के फल को समूचा देश ग्रहण करता है ।

प्रश्न 4. भाव स्पष्ट कीजिए –

( क ) रूपांतर है सूरज की किरणों का

सिमटा हुआ संकोच है हवा की धिरकन का ।

उत्तर- अंकुरित बीज जब मिट्टी से बाहर निकलकर सूर्य की किरणों का स्पर्श पाकर तीव्रता से बढ़ने लगते हैं और अन्त में जब फसल पककर तैयार हो जाती है तो ऐसा लगता है जैसे उस सुनहरी फसल ने सूरज की किरणों का परिवर्तित सुनहरा रूप रंग प्राप्त कर लिया है । पकी फसल जब अपने पूर्ण यौवन में सिमट कर संकोच के साथ खड़ी होती है तब वह पवन का स्पर्श पाते ही थिरक उठती है ।

रचना और अभिव्यक्ति

प्रश्न 5. कवि ने फसल को हजार – हजार खेतों की मिट्टी का गुण – धर्म कहा है –

( क ) मिट्टी के गुण – धर्म को आप किस तरह परिभाषित करेंगे ?

( ख ) वर्तमान जीवन शैली मिट्टी के गुण – धर्म को किस तरह प्रभावित करती है ?

( ग ) मिट्टी द्वारा अपना गुण – धर्म छोड़ने की स्थिति में क्या किसी भी प्रकार के जीवन की कल्पना की जा सकती है ?

( घ ) मिट्टी का गुण – धर्म का पोषण करने में हमारी क्या भूमिका हो सकती है ?

उत्तर- ( क ) मिट्टी के गुण – धर्म से आशय मिट्टी में मिले पोटेशियम , फॉस्फोरस , नाइट्रोजन खनिज लवण आदि से है जिनसे मिट्टी का स्वरूप यथा- दोमट , लाल , संदली , चिकनी आदि निर्धारित होता है । उसी के आधार पर फसलों का निर्धारण होता है ।

( ख ) वर्तमान जीवन शैली को अपनाने वाला मानव इतना अधिक स्वार्थी हो गया है कि वह अपने स्वार्थ के लिए मिट्टी के वास्तविक धर्म को भुलाकर अपने हित साधन हेतु उसके मूल्य को दिनोंदिन नष्ट करता जा रहा है ।

( ग ) नहीं- यदि मिट्टी अपना गुण – धर्म छोड़ देगी तो फसलों की प्राप्ति के लिए बहुत मात्रा में रसायनों का प्रयोग करना पड़ेगा । जिसका मानव जीवन पर बुरा प्रभाव पड़ेगा ।

( घ ) हमें ऐसे कार्य करने चाहिए जिससे हम मिट्टी की उर्वरा शक्ति को नष्ट होने से बचा सकें , हमें मिट्टी को बंजर होने से बचाने के प्रयास करने चाहिए । उसे प्रदूषित होने से बचाना चाहिए । क्योंकि ये भी मिट्टी के वास्तविक गुण – धर्म को नष्ट करने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं ।

पाठेतर सक्रियता

प्रश्न 6. इलेक्ट्रॉनिक एवं प्रिंट मीडिया के माध्यमों के द्वारा आपने किसानों की स्थिति के बारे में बहुत कुछ सुना , देखा और पढ़ा होगा । एक सुदृढ़ कृषि व्यवस्था के लिए आप अपने सुझाव देते हुए अखवार के सम्पादक को पत्र लिखिए ।

उत्तर- छात्र स्वयं करें ।

प्रश्न 7 . फसलों के उत्पादन में महिलाओं के योगदान को हमारी अर्थव्यस्था में महत्त्व क्यों नहीं दिया जाता है ? इस बारे में कक्षा में चर्चा कीजिए ।

उत्तर- छात्र स्वयं अपने विषय अध्यापक / अध्यापिका के साथ इस विषय पर चर्चा करें ।

 

एनसीईआरटी सॉल्यूशंस के लाभ

एनसीईआरटी के कक्षा 10 समाधान में अत्यंत महत्वपूर्ण बिंदु हैं, और प्रत्येक अध्याय के लिए, प्रत्येक अवधारणा को सरल बनाया गया है ताकि उत्कृष्ट परीक्षा परिणाम प्राप्त करने की संभावनाओं को याद रखना और बढ़ाना आसान हो सके। परीक्षा की तैयारी के संदर्भ यहां कुछ सुझाव दिए गए हैं कि ये समाधान आपको परीक्षा की तैयारी में कैसे मदद कर सकते हैं ।

  1. यह छात्रों को प्रत्येक अध्याय में कई समस्याओं को हल करने में मदद करता है और उन्हें अपनी अवधारणाओं को और अधिक सार्थक बनाने के लिए प्रोत्साहित करता है।
  2. कक्षा 10 समाधानों के लिए एनसीईआरटी समाधान आपको अपने ज्ञान को अपडेट करने और अपनी अवधारणाओं को परिष्कृत करने के लिए प्रोत्साहित करते हैं ताकि आप परीक्षा में अच्छे परिणाम प्राप्त कर सकें।
  3. ये समाधान सबसे अच्छी परीक्षा सामग्री हैं, जिससे आप अपने सप्ताह और अपनी ताकत के बारे में अधिक जानने की अनुमति देते हैं। परीक्षा में अच्छे परिणाम पाने के लिए जरूरी है कि आप अपनी कमजोरियों को दूर करें।
  4. परीक्षा में ज्यादातर प्रश्न एनसीईआरटी की पाठ्यपुस्तकों के समान तरीके से तैयार किए जाते हैं । इसलिए, छात्रों को विषय को बेहतर ढंग से समझने के लिए प्रत्येक अध्याय में समाधानों की समीक्षा करनी चाहिए।
  5. यह निशुल्क है।

कक्षा 10 परीक्षा की तैयारी के लिए टिप्स और रणनीतियां

  1. अपने पाठ्यक्रम और पाठ्यक्रम की योजना बनाएं और संशोधन के लिए समय बनाएं
  2. परीक्षा की तैयारी के लिए हर बार अपनी अवधारणाओं को स्पष्ट करने के लिए cbsestudyguru वेबसाइट पर उपलब्ध एनसीईआरटी समाधान का उल्लेख करें ।
  3. परीक्षा को सफलतापूर्वक पास करने के लिए सीखना शुरू करने के लिए cbsestudyguru लर्निंग ऐप का उपयोग करें। हल और अनसुलझे कार्यों सहित पूर्ण शिक्षण सामग्री प्रदान करें।
  4. यह अपने शिक्षकों या एलेक्स (एक अल अध्ययन बॉट) के साथ परीक्षा से पहले अपने सभी संदेहों को स्पष्ट करने के लिए महत्वपूर्ण है ।
  5. जब आप किसी चैप्टर को पढ़ते या पढ़ते हैं तो एल्गोरिदम फॉर्मूले, प्रमेय आदि लिखें और परीक्षा से पहले उनकी जल्दी समीक्षा करें ।
  6. अपनी अवधारणाओं को मजबूत बनाने के लिए पर्याप्त संख्या में प्रश्न पत्रों का अभ्यास करें।
  7. आराम और उचित भोजन लें।  ज्यादा तनाव न करें।

कक्षा 10 के लिए सीबीएसस्टूडुगुरु एनसीईआरटी सॉल्यूशंस का विकल्प क्यों चुनते हैं?

  • cbsestudyguru अपनी उंगलियों पर सभी विषयों के लिए एनसीईआरटी समाधान प्रदान करते हैं ।
  • ये समाधान विषय विशेषज्ञों द्वारा डिजाइन किए गए हैं और एनसीईआरटी की हर पाठ्यपुस्तक प्रश्नों के समाधान प्रदान करते हैं।
  • cbsestudyguru विशेष रूप से सीखने को इंटरैक्टिव, प्रभावी और सभी वर्गों के लिए बनाने पर केंद्रित है।
  • हम कक्षा 10 और अन्य सभी कक्षाओं के लिए मुफ्त एनसीईआरटी समाधान प्रदान करते हैं।

Leave a Comment